Video: Love-Jihad का नाम लगाके मुस्लिम युवक पर टूट पड़े थे भगवाधारी, इस जांबाज सिख पुलिस इंस्पेक्टर ने बचायी जान

0
130

उत्तराखंड का नैनीताल जिला. यहां रामनगर नाम की एक जगह है. रामनगर में गिरिजा नाम का गांव. यहां गिरिजा देवी का एक मशहूर मंदिर है. ये इलाका जिम कॉर्बेट नैशनल पार्क की दहलीज में आता है. एकदम छोर पर. बहुत नामी-गामी मंदिर है ये. बड़े लोग आते हैं यहां देवी के दर्शन वास्ते. ये मंदिर जंगल के बीच है. रामनगर शहर से करीब 14-15 किलोमीटर दूर. पास से एक नदी होकर बहती है. शायद ऐसी लोकेशन की वजह से ही यहां खूब सारे जोड़े भी आते हैं. इस उम्मीद में कि एकांत मिलेगा. 22 मई, 2018. इस दिन भी एक कपल छुपकर मंदिर में मिलने आया. और पकड़ा गया.

पूछताछ में मालूम चला कि लड़का मुसलमान है. लड़की हिंदू है. इसके बाद खूब हंगामा हुआ. भीड़ जुट गई. भीड़ उस मुस्लिम लड़के को पीटना चाहती थी. हो सकता था कि उस दिन वहां वो लड़का पीटकर मार डाला जाता. मगर ऐसा नहीं हुआ. लिंचिंग न होने देने की पूरी वाहवाही एक पुलिसवाले के नाम है. और उस पुलिसवाले का नाम है गगनदीप सिंह. गगनदीप उत्तराखंड पुलिस में सब-इंस्पेक्टर हैं. इसके बावजूद हिन्दू संगठनों से जुड़े भगवाधारी लोग मुस्लिम लड़के को पीटने की कोशिश करते रहे। सब इन्स्पेक्टर ने अपनी बहादुरी दिखाते हुए भगवाधारी लोगों को न सिर्फ हमला करने से रोका बल्कि मुस्लिम लड़के को भी सुरक्षित बचा लिया।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार यदि सब इंस्पेक्टर गगनदीप अपनी बहादुरी और हिम्मत नहीं दिखाते तो शायद भगवाधारियों की भीड़ उक्त मुस्लिम लड़के की पीट पीट कर जान भी ले सकती थी। हालाँकि पुलिस के अनुसार मंदिर में मिलने वाले लड़का लड़की दोनो बालिग़ थे। जिन्हे मिलने से रोकने का किसी को हक नहीं। पुलिस ने फिलहाल लड़के और लड़की के परिजनों को बुलाकर दोनो को उनके हवाले कर दिया है।

पुलिस के पहुंचने से पहले लड़के की पिटाई हो चुकी थी
हमने रामनगर पुलिस को फोन किया. यहां के प्रभारी निरीक्षक हैं विक्रम राठौड़. उन्होंने इस घटना की पुष्टि की. वही बताया, जो हम आपको ऊपर बता चुके हैं. भीड़ में बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद् के भी लोग थे. घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस यहां पहुंची. पुलिस के आने से पहले भीड़ ने उस लड़के और उसके साथ आए उसके एक दोस्त की पिटाई की थी. पुलिस ने बताया कि आस-पास के इलाकों में रहने वाले लड़के-लड़कियां अक्सर मंदिर में एक-दूसरे से मिलने आते हैं. हिंदू भी. और मुस्लिम भी. भीड़ का ये भी कहना था कि लड़का-लड़की अश्लील हरकत कर रहे थे. हमने पुलिस से पूछा. कि वो अश्लील हरकत क्या थी? इसका जवाब नहीं मिला. अश्लीलता की कैटगरी बड़ी स्वैच्छिक चीज है. कोलकाता मेट्रो की घटना याद है? उसमें एक जोड़ा बस एक-दूसरे के करीब खड़ा था. शायद गले मिल रहा था. आसपास के लोगों को ये भी अश्लील लगा था. इतना अश्लील कि उन्होंने उस जोड़े को पीट दिया.

सोशल मीडिया पर यूजर्स सब इंस्पेक्टर गगनदीप की बहादुरी की प्रशंशा कर रहे हैं। कई यूजर्स ने गगनदीप को पुरूस्कार से सम्मानित करने की मांग भी की है। पुलिस के अनुसार हमलावर विहिप और हिन्दू संगठन से जुड़े लोग हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here