इंडियन क्रिकेटर से की 12 लड़कियों की मांग, BCCI और IPL चेयरमैन के असिस्टेंट पर आरोप…

0
205

नई दिल्ली: इस खबर को पढ़ने के बाद आपका क्रिकेट पर से भरोसा ही उठ जाएगा. दरअसल, उत्तर प्रदेश के एक उभरते हुए खिलाड़ी राहुल शर्मा ने BCCI और IPL चेयरमैन राजीव शुक्ला के पीए अकरम सैफी पर आरोप लगाया है.

खिलाड़ी के आरोप के मुताबिक अकरम सैफी ने उससे अपना बिस्तर गर्म करने की मांग कि थी. क्रिकेटर राहुल शर्मा ने ये भी आरोप लगाया कि अकरम BCCI के एज-ग्रुप टूर्नामेंट में खेलने के लिए प्‍लेयर्स को जाली उम्र सर्टिफिकेट देने का प्रबंध भी करता हैं. इस बड़े खुलासे का दावा हिंदी न्यूज चैनल News 1 India ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में किया है.

व्हाटअप्प से खुला स्कैंडल 

न्‍यूज चैनल ने इस स्कैंडल को लेकर अकरम सैफी और क्रिकेटर राहुल शर्मा के बीच व्हाटअप्प पर हुए चैट को भी दिखाया. इसमें अकरम, राहुल शर्मा से लड़की को भेजने की बात कह रहे हैं. अकरम का उत्‍तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन में अच्‍छा प्रभाव माना जाता है. व्हाटअप्प चैट के दौरान अकरम राहुल से ये वादा करते हैं कि कुछ मैचों के बाद उसका नाम टीम में शामिल कर लिया जाएगा.

आइपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला के एक्जीक्यूटिव असिस्टेंट मोहम्मद अकरम सैफी ने राहुल शर्मा से कुल 12 लड़कियां मांगी थीं. दिल्ली के कनॉट प्लेस वाले फाइव स्टार होटल में अकरम के ठहरने पर कई बार इन लड़कियों को राहुल शर्मा ने भेजा. खुद यह बात क्रिकेटर राहुल शर्मा ने कही है.


राहुल के मुताबिक उसने अपने सिलेक्शन के लिए कुल 12 लड़कियां अकरम को समय-समय पर भेजीं. जिसमें आधी कॉलगर्ल थीं तो आधी लड़कियां उसकी दोस्त थीं. दोस्त लड़कियों में कुछ तो फिल्मों में काम पाने की लालच में अकरम के पास जातीं रहीं. राहुल शर्मा के मुताबिक अकरम के पास अपनी जिस दोस्त को भेजा था, उसने बाद में बताया कि अकरम बहुत खतरनाक है. वह तुम्हारा टीम में सिलेक्शन नहीं करा सकता,बस तुम्हें इस्तेमाल कर रहा है. उसने मुझे काम देने के बहाने बहुत यौन शोषण किया. राहुल ने कहा कि जब तमाम कोशिशों और पांच लाख रुपये देने के बाद भी उसका सिलेक्शन नहीं हुआ तो उसे मजबूरन अकरम सैफी को बेनकाब करना पड़ा.

नाम दिलाने के लिए रिश्‍वत

चैनल ने कुछ दूसरे खिलाड़ियों को भी दिखाया, जिन्‍होंने आरोप लगाया कि यूपी में सेलेक्‍टर्स स्‍टेट टीम में नाम दिलाने के लिए रिश्‍वत मांगते हैं. बता दें कि अकरम यूपी क्रिकेट एसोसिएशन में किसी पद पर नहीं हैं लेकिन इन क्रिकेटर्स का कहना है कि पर्दे के पीछे अकरम की बड़ी भूमिका होती है.

क्या बोली BCCI आई ?

इस खुलासे पर BCCI के एसीयू प्रमुख अजीत सिंह ने कहा कि “हमने स्टिंग पर ध्यान दिया है और पूरे मामले की जांच की जाएगी. हम ऑडियो के लिए चैनल से पूछेंगे और इसमें शामिल खिलाड़ी की भी जांच करेंगे. जब तक हम शामिल लोगों से बात नहीं करते, तब तक कुछ भी कहना मुश्किल है,

भद्रजनों के खेल क्रिकेट में इस गंदे खेल का खुलासा होने के बाद क्रिकेटर मो. कैफ ने ट्वीट कर जांच की मांग उठाई. उन्होंने यूपी क्रिकेट में हद दर्जे के भ्रष्टाचार को दूर किए जान की मांग की. उन्होंने राजीव शुक्ला को ट्वीट कर जांच की मांग उठाई. सेक्स फॉर सिलेक्शन के खुलासे के बाद बीसीसीआई में हड़कंप मच गया और अकरम को संस्था की सेवा से जांच पूरी होने तक बाहर कर दिया गया है. बीसीसीआई ने जांच कमेटी गठित की है. अकरम राजीव शुक्ला का न केवल सहयोगी था, बल्कि बीसीसीआई से भी जुड़ा था.

चैटिंग में क्या हैः वाट्सअप पर राहुल शर्मा से अकरम लड़कियों की तस्वीरें मंगाता है. इस पर अकरम कहता है-कोई नई(लड़की) नहीं है. फिर कहता है-साढ़े 9  बजे तक चाहिए. फिर एक चैट में अकरम सैफी लड़की को 1015 रूम नंबर में भेजने की बात कह रहा.लड़की पहुंचने के बाद अकरम कहता है-चिंता मत करो, तुम्हारा सिलेक्शन जरूर होगा.तुम अपना पूरा नाम और चेस्ट नंबर मैसेज करें.

लड़कियों को फिल्मों में काम का देता है झांसाःराजीव शुक्ला के सहयोगी के तौर पर काम करने के चलते अकरम की मेल-मुलाकात भी तमाम हस्तियों से होती रहती है. इसमें क्रिकेटर से लेकर फिल्मी सितारे तक शामिल हैं.अकरम इऩ सितारों के साथ अपनी तस्वीरें फेसबुक पोस्ट करता रहता है.ताकि लोगों खासकर लड़कियों को प्रभाव में लिया जा सके.न्यूज वन से बातचीत में क्रिकेटर राहुल शर्मा ने बताया कि एक मित्र के जरिए वह अकरम के संपर्क में आया था. क्योंकि राज्य स्तरीय टीम में सलेक्शन महज छलावा होता है. मगर अकरम ने उसे लड़कियों के लिए इस्तेमाल करना शुरू किया. राहुल ने आरोप लगाया कि अकरम ने उसकी फ्रेंडलिस्ट में शामिल लड़कियों से दोस्ती कराने को कहा था. जिसमें से कुछ लड़कियों को उसने मॉडल बनाने का झांसा देकर यौन शोषण किया.

अकरम का आरोप से इंकार

वहीं अकरम सैफी ने भी मीडिया से बातचीत कि थी जिसमें उसने ये बताया था कि, ये सारे आरोप गलत हैं और उनको बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. सैफी ने कहा, ”यदि ये लड़का कह रहा है कि उसने मुझे कोई लड़की भेजी तो यदि उसका आरोप सही है तो उसे टीम में शामिल हो जाना चाहिए था. लेकिन क्‍या ऐसा हुआ? यदि उसके आरोप में सच्‍चाई है तो क्‍या वह यूपी के लिए खेला?” इसका जवाब है, नहीं. उसका नाम यूपी की 60 सदस्‍यीय टीम में कभी शामिल नहीं हुआ और न ही उसने कोई जूनियर क्रिकेट खेला.”

अकरम ने यह भी कहा, ”सच्‍चाई जल्‍दी ही सामने आ जाएगी. चूंकि मैं राजीव शुक्‍ला से जुड़ा हूं, लिहाजा हर तरफ से इस तरह के हमलों का होना लाजिमी है.

BCCI से भी जुड़ा हैं अकरम सैफी

अकरम के बारे में कहा जाता है कि वह पिछले कुछ समय से राजीव शुक्‍ला के पसर्नल असिस्‍टेंट हैं. इसके साथ ही वह BCCI से भी जुड़े हैं और हर महीने बोर्ड से पगार लेते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here