हरियाणाः नाबालिगों को गुप्तांगों में करंट लगाया, पुलिस ने मां-बहन का रेप और हत्या की धमकी दी, चलने लायक नही बचा

0
429

हरियाणा पुलिस की लापरवाही के किस्से आए दिन सामने आते हैं, लेकिन इस बार कुरुक्षेत्र में पुलिस ने उस वक्त खाकी को शर्मसार कर दिया, जब रेप और हत्या के मामले में चार नाबालिग लड़कों को गुनाह कबूल कराने के लिए पुलिस ने उन्हें करंट लगाया और उन पर थर्ड डिग्री का इस्तेमाल किया. परिजनों के हंगामा करने पर उन चारों को छोड़ा गया.

दरअसल, कुरुक्षेत्र में एक 15 वर्षीय लड़की की रेप के बाद हत्या कर दी गई थी. इस मामले के एक संदिग्ध की अचानक मौत हो गई. जिसका नाम गुलशन था. आरोप है कि इसके बाद पुलिस ने इस केस को सुलझाने के लिए चार नाबालिग बच्चों को पकड़कर उन्हें करंट लगाया और उन पर थर्ड डिग्री का इस्तेमाल किया.

पीड़ितों के मुताबिक पुलिस उनसे ज़बरदस्ती जुर्म कबूल करने को कह रही थी. बच्चों को उस वक्त छोड़ा गया, जब उन बच्चों के घरवालों ने थाने पर जाकर हंगामा किया और मृतक गुलशन का अंतिम संस्कार नहीं करने की धमकी दी.

15 साल के सागर ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उसे पुलिस ने बोला की तुमने गुलशन से फ़ोन पर बात की है. फिर दो पुलिस वालों ने उसके दोनों पैरों को पकड़ उलटी दिशा में खींचना शुरू किया. ऐसा लग रहा था जैसे वो बीच से फट जाएगा. फिर उन्होंने पीड़ित के गुप्तांगों में करंट लगाया और बोले की क़बूल करो की तुमने ही लड़की का रेप कर उसे मारा है और गुलशन की हत्या भी तुमने की है. जब पीड़ित ने मना किया तो पुलिसवालों ने उसकी बहन और मां के साथ भी बलात्कार और उनकी हत्या करने की धमकी दी. फिलहाल सागर चल फिर नहीं सकता.

मृतक गुलशन के दूसरे दोस्त अमित, सागर और प्रिन्स के हालात भी कुछ ऐसे ही हैं. आजतक से बात करते हुए सभी फूट-फूट कर रो पड़े और पुलिस के जुर्म की दास्तान सुनाई. अब इस मामले में मृतक युवक गुलशन के परिवार नें भी सीबीआई जांच की मांग की है.

दूसरी तरफ कुरुक्षेत्र के पुलिस अधीक्षक ने सफ़ाई देते हुए कहा की उन्हें किसी भी परिवार से कोई शिकायत नहीं आई है, जिसमें बच्चों के साथ मारपीट का आरोप लगाया गया हो. उन्हें संदेह के आधार पर हिरासत में लिया गया था और अभी उन्होंने किसी को क्लीन चिट नहीं दी है.

ये था पूरा मामला

बताते चलें कि जींद के बुड्ढाखेड़ा गांव के पास रजवाहे से 15 वर्षीय लड़की का अर्धनग्न शव बरामद किया गया था. शव के गले में मिले लॉकेट के आधार पर पीड़िता की पहचान कुरुक्षेत्र निवासी 10वीं की छात्रा के रूप में हुई थी. पीड़िता दलित समुदाय से थी.

पुलिस को जांच में पता चला था कि पीड़िता 9 जनवरी से ही लापता थी. पीड़िता के परिजनों ने झांसा थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी. पुलिस ने पीड़िता के शव का रोहतक PGI में पोस्टमार्टम करवाया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसके साथ गैंगरेप किए जाने का खुलासा हुआ था.

यही नहीं उसके प्राइवेट पार्ट में नुकीली वस्तु डालकर उसे घोर यातना दिए जाने की बात सामने आई थी. पीड़िता की हत्या करने के बाद आरोपियों ने लड़की का शव एक नहर में फेंक दिया था. डॉक्टरों के मुताबिक पीड़िता के शरीर में कई जगह गंभीर चोट के निशान मिले थे.

इस कांड में तब सनसनीखेज मोड़ आया, जब इस मामले में वांछित चल रहे एक आरोपी गुलशन की लाश नहर से बरामद हुई. भाखड़ा नहर से उसका निर्वस्त्र शव बरामद हुआ था. पुलिस फिलहाल कुछ भी कहने से इंकार कर रही है.

गुलशन का शव मिलने के बाद यह केस और भी पेचींदा हो गया. इस युवक पर पीड़िता के साथ रेप और उसकी हत्या करने का शक जताया गया था. पुलिस उसकी तलाश भी कर रही थी. अब यह मामला पुलिस के लिए और भी उलझ गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here