रवि शास्त्री और विराट कोहली पहले से जानते थे मोहम्मद शमी के बारे में

0
282

सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्तन कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेेटर्स (सीओए) ने BCCI की ओर से बुधवार (7 मार्च) को सालाना कांट्रैक्ट‍ लिस्टं जारी किया था। टाइम्स नाउ’ की रिपोर्ट के अनुसार, कांट्रैक्टर लिस्टत जारी करने से पहले ही विराट और रवि शास्त्री को मोहम्मद शमी की स्थिति के बारे में बता दिया गया था।

क्रिकेट बोर्ड के नए दिशा-निर्देशों के तहत ही सभी क्रिकेट खिलाड़ि‍यों का पे स्ट्रमक्च र निर्धारित किया गया है। ‘बताया जाता है कि COA ने BCCI को शमी का नाम होल्ड पर रखने को कहा था। इसके बाद उनके नाम को लिस्टक में शामिल न करने का फैसला लिया गया। बता दें कि BCCI द्वारा लिस्टे जारी करने से पहले ही शमी की पत्नीै ने उन पर गंभीर आरोप लगाए थे।

पशोपेश में पड़ गया था BCCI: ‘COA की रिपोर्ट के अनुसार, शमी का मामला सार्वजनिक होने के बाद क्रिकेट बोर्ड पशोपेश में पड़ गया था कि निजी वजहों के चलते उनका नाम कांट्रैक्टं लिस्टा में रखा जाए या नहीं।

बोर्ड के एक वरिष्ठप अधिकारी ने बताया, ‘इस मामले में (शमी-हसीन जहां विवाद) नैतिकता का मसला जुड़ने के कारण BCCI द्विविधा में पड़ गया था। कोई भी कह सकता है क‍ि यह पूरी तरह एक निजी मामला है, जिसका प्रोफेशनल लाइफ से कुछ लेनादेना नहीं है।

दूसरी तरफ, कुछ लोग BCCI पर यह आरोप भी लगा सकता है कि गंभीर आरोपों (जैसे हत्यात का प्रयास) के बावजूद ऐसे खिलाड़ी को रिवॉर्ड दिया गया।’ मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, रविवार (4 मार्च) तक मोहम्मवद शमी का नाम BCCI की कांट्रैक्टर लिस्टर में था।

लेकिन, घटना के सामने आने के बाद COA ने बोर्ड को और ब्यो्रा सामने आने तक शमी के नाम को होल्ड) पर रखने का निर्देश दिया था। बताया जाता है कि BCCI के फैसले से इंडियन प्रीमियर लीग फ्रेंचाइजी दिल्लीर डेयरडेविल्सा के लिए भी संकट बढ़ गया है।

शमी IPL के 11वें सत्र में दिल्लील की टीम का हिस्साट हैं। T20 लीग अगले महीने से शुरू हो रहा है। शमी पर लगे आरोपों की छानबीन के इतने कम समय में पूरा होने की संभावना नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here