‘मोदी चूहे के बच्‍चे की तरह वापस गुजरात भागेंगे’

0
700
मोदी

नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार हर किसी के निशाने पर है। हाल ही में तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्‍याण बनर्जी ने नोटबंदी को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा। बता दें कि चिटफंड घोटाले में अपनी पार्टी नेताओं की गिरफ्तारी से खफा बनर्जी ने एक रैली में कहा, ”मोदी चूहे के बच्‍चे की तरह वापस गुजरात भागेंगे।”

 

बनर्जी के इस बयान को भाजपा ने बेहद गंभीरता से लिया है और उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। वहीं बनर्जी ने मोदी के खिलाफ अपनी भाषा के लिए माफी मांगने से मना कर दिया। बनर्जी ने मीडिया पर सिर्फ पीएम मोदी के पक्ष में बोलने का आरोप मढ़ दिया। वहीं बनर्जी ने मीडिया पर सिर्फ पीएम मोदी के पक्ष में बोलने का आरोप मढ़ दिया।

बता दें कि ममता बनर्जी की पार्टी ‘देश बचाने के लिए’ प्रधानमंत्री मोदी को हटाए जाने की मांग के साथ सोमवार 9 जनवरी से देशभर में तीन-दिवसीय प्रदर्शन कर रही है। बनर्जी ने कोलकाता में कहा था, ”मोदी बाबू के बेशर्म फ्लॉप-शो के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस देशभर में प्रदर्शन करेगी।” ममता बनर्जी ने सोमवर (9 जनवरी) को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से नोटबंदी के बाद देश की जनता को ‘आपदा के कगार’ से ‘बचाने’ के लिए हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया था।

वहीं रोज वैली चिटफंड घोटाले में अपनी पार्टी के कई नेताओं को सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद ममता ने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने सीबीआई को ‘कांस्पिरेसी ब्यूरो ऑफ इंडिया’ में बदल दिया है। ममता ने तृणमूल सांसदों सुदीप बंदोपाध्याय और तापस पाल की एजेंसी द्वारा गिरफ्तारी के संदर्भ में कहा, ‘उन्होंने (भाजपा नीत केन्द्र) सीबीआई को ‘कांसप्रेसी ब्यूरो ऑफ इंडिया’ बना दिया है।’ उन्होंने कहा, ‘मैं 23 साल सांसद रही हूं और कई सरकारें देखी हैं लेकिन ऐसी सरकार कभी नहीं देखी जो हर किसी के विरोध प्रदर्शन में साजिश देखे।’

इस मामले में ममता ने दावा किया कि स्थिति ‘1975 के आपातकाल के समय के दिनों से भी खराब है।’ उन्होंने कहा, ‘हम इसकी परवाह नहीं करते। अगर मोदी बाबू चाहें तो हम सब को जेल में डाल सकते हैं लेकिन हम जनता के हित में बात करना बंद नहीं करेंगे।’ आम लोगों से विरोध में खड़े होने का आह्वान करते हुए उन्‍होंने कहा, ‘कुछ दिक्कतें होंगी लेकिन किसी को आवाज उठानी होगी। तृणमूल कांग्रेस ऐसा करेगी।’ उन्होंने कहा, ‘हम उन सभी दिक्कतों का सामना करेंगे जो हमारे विरोध के कारण हमारे सामने आ सकती हैं।’

LEAVE A REPLY