भारतीय मूल के शख्स ने सिंगापुर के ध्वज के साथ फेसबुक पोस्ट की तस्वीर, नौकरी से निकाला

0
125

सिंगापुर। भारतीय मूल के एक व्यक्ति के फेसबुक पोस्ट को लेकर सिंगापुर में लोगों के बीच नाराजगी पैदा हो गई है. इस फेसबुक पोस्ट में एक टी-शर्ट पर सिंगापुर का ध्वज फाड़कर उसके अंदर छिपे भारत के राष्ट्रीय ध्वज को दिखाया गया है. इस मामले में सिंगापुर में भारतीय मूल के एक कर्मचारी की नौकरी चली गई है.

यहां भारतीय समुदाय की पत्रिका के अनुसार, ऐसा माना जा रहा है कि यह तस्वीर स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या 14 अगस्त को पहली बार सोशल नेटवर्किंग साइट पर डाली गई. इसे ऑनलाइन तब बड़े पैमाने पर साझा किया जब अविजीत दास पटनायक ने सिंगापुर इंडियंस एंड एक्सपैट्स पेज पर तस्वीर पोस्ट की. इस पेज से 11,000 लोग जुड़े हुए हैं.

खबर में बताया कि एक दशक से सिंगापुर में रह रहे पटनायक ने तस्वीर के साथ हिंदी में एक कैप्शन लिखे जो लोकप्रिय बॉलिवुड गीत ‘फिर भी दिल है…’ था. कई नागरिकों ने इसे अपमानजनक बताया क्योंकि इसमें हाथों से सिंगापुर के ध्वज को फाड़ते हुए दिखाया गया है. पुलिस ने पुष्टि की कि वह इस मामले की जांच कर रहे हैं.

पटनायक से जब संपर्क किया गया तो उन्होंने माफी मांगी और कहा कि उनका आशय किसी का अपमान करना नहीं था. खबर में पटनायक के हवाले से कहा गया है, ‘मैंने तस्वीर नहीं बनाई और इसे पहले ही बड़े पैमाने पर साझा किया जा चुका था इसलिए मैंने इस तस्वीर को साझा कर दिया.’

उन्होंने कहा, ‘मैं सिंगापुर से बहुत प्यार करता हूं और मैं हमेशा देश की प्रशंसा करता हूं इसलिए मेरी मंशा कभी इतनी परेशानी पैदा करने की नहीं थी. मुझे लगता है कि तस्वीर दिखाती है कि हमारा दिल अपनी मातृभूमि के लिए भी धड़कता है.’

पटनायक के नियोक्ता डीबीएस बैंक ने फेसबुक पोस्ट पर टिप्पणी की कि वह इस मामले की जांच कर रहा है. सिंगापुर के कानून के अनुसार कोई भी व्यक्ति ध्वज का अपमान नहीं कर सकता। इसके लिए अधिकतम जुर्माना 10,000 सिंगापुर डॉलर है.

बैंक ने आज फेसबुक पर एक बयान जारी करके कहा कि पटनायक अब उसका कर्मचारी नहीं है। इस बीच चैनल न्यूज एशिया ने खबर दी है कि इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है और जांच चल रही है। कई नागरिकों ने इसे अपमानजनक बताया था, क्योंकि इसमें हाथों से सिंगापुर के ध्वज को फाड़ते हुए दिखाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here