भाजपा का घिनौना बयान: लोगो का क्या है वह तो कही भी मर सकते है बैंक हो या राशन की लाइन

1
70388
भाजपा

भोपाल। 8 नवंबर को केंद्र सरकार के 500 और 1000 के नोट बंद करने के फैसले के बाद देश के अलग-अलग इलाकों में 16 लोगों की मौत हो चुकी है। देश भर में 500 और 1000 के नोट एक्सचेंज कराने के लिए बैंकों और एटीएम के बाहर लंबी कतारें लग रही हैं। घंटों लाइन में लगने से लोग परेशान और बीमार हो रहे हैं। हाल ही में बैंक में पैसे एक्सचेंज कराने गए एक व्यक्ति की लाईन में लगने से मौत हो गई है।
वहीं भाजपा के नेता भी इन मौतों के मामले में ऊट-पटांग बयान दे रहे हैं। जब भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मप्र प्रभारी डॉ. विनय सहस्रबुद्धे से उस व्यक्ति के मौत के बाबत पूछा गया तो उन्होंने एक विवादित बयान दे दिया। उन्होंने कहा कि क्या लोग राशन की लाइन में नहीं मर सकते? हालांकि इसके तुरंत बाद अपनी बात को संभालते हुए उन्होंने कहा कि अब आगे ऐसा न हो इसके लिए पूरी व्यवस्था की जाएगी।

विनय सहस्रबुद्धे ने सोमवार को भोपाल में जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र के निवास पर पत्रकारों से चर्चा के दौरान ये बात कही। उन्होंने कहा कि देश में कालेधन के खिलाफ संघर्ष चल रहा है। जनता सत्याग्रही के रूप में थोड़ा कष्ट सहे। ये केवल एक कानूनन निर्णय नहीं, जन आंदोलन है। उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि वे जनता की मदद करें। उन्होंने कहा कि लोग बहुत हड़बड़ी में काम कर रहे हैं, मैं उनसे कहना चाहता हूं कि अभी बहुत समय है सब आराम से अपना काम करवाएं।

आपको बता दें कि बीते दिनों मध्यप्रदेश के सागर में 69 साल के रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी विनय पांडेय पैसे के लिए लाइन में खड़े थे, उसी दौरान वे गिर पड़े थे। बाद में उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गयी।

शर्मनाक: 1000-500 के नोट लिए गिड़गिड़ाती रही पत्नी, हॉस्पिटल ने नही दिया शव, गिरवी रखना पड़ा मंगलसूत्र

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here