बच्चों की तस्करी मामले में BJP राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय फसे

0
116

इंदौर : पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी में बच्‍चों की तस्करी से जुड़े़ बहुचर्चित मामले में इस सूबे की पुलिस के अपराध जांच विभाग (सीआईडी) ने बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से इंदौर में पूछताछ की है.

विजयवर्गीय बीजेपी संगठन में पश्विम बंगाल मामलों के प्रभारी महासचिव हैं. इंदौर उनका गृह नगर है. सूत्रों ने बताया कि पश्चिम बंगाल सीआईडी ने 10 जनवरी को इंदौर रेंज के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) कार्यालय परिसर के कॉन्फ्रेंस हॉल में विजयवर्गीय से पूछताछ की.

इंदौर के एडीजी अजय शर्मा ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल सीआईडी के पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) की अगुवाई वाले दल को विजयवर्गीय से पूछताछ के लिये एक अदालती आदेश के आधार पर उनके कार्यालय परिसर का कॉन्फ्रेंस हॉल मुहैया कराया गया. शर्मा ने यह कहते हुए विस्तृत ब्यौरा देने में असमर्थता जाहिर कि मामला पश्चिम बंगाल पुलिस से जुड़ा है.

​पश्चिम बंगाल सीआईडी ने पिछले साल जलपाईगुड़ी में बच्चों की तस्करी के एक गिरोह का खुलासा किया था. यह गिरोह गोद देने के करार की आड़ में बच्चों को देशी-विदेशी लोगों को कथित रूप से बेच देता था. इस मामले में कुछ अन्य लोगों के साथ भाजपा महिला मोर्चा की पश्चिम बंगाल इकाई की तत्कालीन महासचिव जूही चौधरी को भी गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तारी के बाद भाजपा जूही को उनके पद से बर्खास्त कर चुकी है.

इस बीच, विजयवर्गीय के स्थानीय कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि पश्चिम बंगाल सीआईडी ने बीजेपी महासचिव से यहां “सामान्य पूछताछ” की. प्रवक्ता ने कहा कि जूही या बाल तस्करी मामले के किसी भी अन्य आरोपी से विजयवर्गीय का कभी कोई सीधा सम्पर्क नहीं रहा है. लेकिन पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार “सियासी दुश्मनी” के कारण भाजपा महासचिव को मामले में जबरन फंसाना चाहती है. जूही की गिरफ्तारी के बाद पश्चिम बंगाल सीआईडी भाजपा की राज्यसभा सांसद रूपा गांगुली से बाल तस्करी मामले में पहले ही पूछताछ कर चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here