प्रोफेसर द्वारा पैर पकड़ने के मामले को लेकर राहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा-

0
62

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में कुछ दिनों पहले एक पीजी कॉलेज के प्रोफेसर के साथ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के कार्यकर्ताओं ने शर्मनाक हरकत की थी। जिसका एक वीडियो भी सामने आया था, जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद अब इस मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का भी बयान सामने आया है। उन्होंने पूछा कि, “देश में यह कौन सा ‘संस्कार’ है कि छात्र धमकी दें और गुरु उनके पाँव छुए।”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यहां बीते 26 सितंबर को ज्ञापन देने पहुंचे एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने कक्षा के बाहर नारेबाजी शुरू कर दी थी। जब प्रोफेसर दिनेश गुप्ता ने कार्यकर्ताओं को ऐसा करने से रोका तो वो उनके खिलाफ कथित-तौर पर राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज करने की धमकी देने लगे। कार्यकर्ताओं की धमकी से प्रोफेसर इतना डर गए कि उन्होंने नेताओं और कार्यकर्ताओं के पैर पकड़ कर मांफी मांगने लगे।

स्थानिय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार को पीजी कॉलेज में अभाविप के छात्र नेता एवं अन्य छात्र बीएससी चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा के परिणाम चार महिने बाद भी घोषित नहीं होने से छात्रों को हो रही परेशानी के संबंध विक्रम यूनिवर्सिटी के कुलपति के नाम प्राचार्य को ज्ञापन देने पहुंचे।

इस दौरान अभाविप के छात्र नेताओं के साथ मिलकर अन्य छात्र कॉलेज परिसर में नारेबाजी करने लगे। छात्र नेता नारेबाजी करते हुए प्रोफेसर दिनेश गुप्ता की कक्षा के पास पहुंचे। इस दौरान प्रोफेसर ने उनसे कुछ बात की जिसे लेकर हंगामा हो गया। छात्र नेताओं ने आरोप लगा दिए कि प्रोफेसर गुप्ता उन्हें ‘भारत माता की जय’ बोलने एवं ‘वंदे मातरम’ बोलने से मना किया। इसके बाद छात्र नेता प्रोफेसर गुप्ता के द्वारा मांफी मांगने की बात पर अड़ गये।

इस दौरान कार्यकर्ताओं उनके खिलाफ कथित-तौर पर राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज करने की धमकी देने लगे। कार्यकर्ताओं की धमकी से प्रोफेसर इतना डर गए कि उन्होंने नेताओं और कार्यकर्ताओं के पैर पकड़ कर मांफी मांगने लगे। इस दौरान वहां मौजूद प्रो. बीएल नलवाया ने उन्हें रोकने का प्रयास भी किया। इस पूरी घटना का एक वीडियो भी सामने आया है जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वहीं, इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार(29 सितंबर) को ट्वीट करते हुए लिखा, “मंदसौर में सत्ताधारी पार्टी के छात्र नेताओं द्वारा एक गुरु का अपमान। गुरु ब्रह्मा गुरु विष्णु गुरु देवो महेश्वर मानने वाले देश में यह कौन सा ‘संस्कार’ है कि छात्र धमकी दें और गुरु उनके पाँव छुए। ज्ञान के साथ यह कैसा सलूक है?”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here