नोटबंदी पर पूछे गए सवालो का जवाब अभी तक RBI गवर्नर उर्जित नही दिया, PM मोदी की भी लगेगी क्लास

0
355
नोटबंदी

नोटबंदी के मुद्दे पर संसद की लोक लेखा समिति (पिएसी) ने रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल और वित्त मंत्रालय के अधिकारियों को तलब किया है. समिति ने वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक के गवर्नर को नोटबंदी को लेकर विस्तृत प्रश्नावली भेजी है. पीएसी ने नोटबंदी को लेकर 20 जनवरी को बैठक बुलाई है.

बता दें कि यदि नोटबंदी के मुद्दे पर वित्त मंत्रालय के अधिकारियों और रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल का जवाब संतोषजनक नहीं रहने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी अपने समक्ष बुला सकती है.

गौरतलब है कि 20 जनवरी को बैठक में रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल, वित्त सचिव अशोक लवासा और आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास उपस्थित रहेंगे. आपको बता दें कि पीएसी ने नोटबंदी मुद्दे पर खुद ही संज्ञान लिया है. पीएसी भारत के नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) की रिपोर्ट की जांच परख करती है.

पीएसी के अध्यक्ष केवी थॉमस ने कहा, हमने जो सवाल उन्हें भेजे थे उनका अभी जवाब नहीं मिला है. वे 20 जनवरी की बैठक से कुछ दिन पहले जवाब भेजेंगे. जो जवाब मिलेंगे उन पर विस्तार से चर्चा होगी. यह पूछे जाने पर कि जवाब यदि संतोषजनक नहीं हुए तो क्या पीएसी प्रधानमंत्री को बुला सकती है, थॉमस ने कहा , समिति को मामले में शामिल किसी को भी बुलाने का अधिकार है.

हालांकि, यह 20 जनवरी की बैठक के परिणाम पर निर्भर करता है. यदि सभी सदस्य सर्वसम्मति से तय करते हैं तो हम नोटबंदी के मुद्दे पर पीएम को भी बुला सकते हैं.

थॉमस ने कहा कि आठ नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के बाद उन्होंने पीएम से मुलाकात की थी. उन्होंने कहा, पीएम मोदी ने कहा था कि 50 दिन बाद दिसंबर अंत में स्थिति सामान्य हो जायेगी. लेकिन ऐसा नहीं दिखता है.

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here