शहजाद पूनावाला ने राहुल गांधी पर बोला हमला, कहा…..

0
16

नागरिक अधिकार कार्यकर्ता शहजाद पूनावाला ने बृहस्पतिवार (13 सितंबर) को दावा किया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी यहां एक होटल में 2013 में नीरव मोदी से मिले थे। हालांकि, कांग्रेस ने इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है। नीरव करोड़ों रूपये के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले का आरोपी है। शराब कारोबारी विजय माल्या के देश छोड़कर भागने से पहले संसद में वित्त मंत्री अरूण जेटली से उसे मुलाकात करते कांग्रेस सांसद पीएल पुनिया द्वारा देखे जाने के राहुल के बयान के कुछ ही घंटों बाद पूनावाला ने यह आरोप लगाया है। गौरतलब कि किंगफिशर एयरलाइन के मालिक रहे माल्या ने बुधवार को लंदन में दावा किया था कि वह भारत छोड़ने से पहले जेटली से मिला था और अपने बकाये (कर्ज) का निपटारा करने की पेशकश की थी। हालांकि, वित्त मंत्री ने इस आरोप को खारिज करते हुए इसे झूठा करार दिया है। यह एयरलाइन अब बंद हो चुकी है।

पूनावाला ने दावा किया कि यह मुलाकात (राहुल और नीरव की) उस वक्त हुई थी, जब भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी और उसके भांजे नीरव को रिण दिया जा रहा था। उन्होंने कहा कि इसे साबित करने के लिए एसपीजी के पास रिकार्ड होंगे। उन्होंने ट्वीट किया कि वह राहुल गांधी को खुली चुनौती देते हैं कि वह (राहुल) सितंबर 2013 की कॉकटेल पार्टी में नीरव मोदी से मिलने की बात से इनकार करें। ‘‘इंपेरियल होटल में राहुल ने लंबा वक्त बिताया था! यही वह समय था जब मेहुल चोकसी और नीरव मोदी को ऋण दिया गया !! एसपीजी के पास रिकॉर्ड होंगे या फिर लाई डिटेक्टेटर टेस्ट करा लीजिए।’’

पूनावाला ने कहा कि वह कुरान की कसम खा सकते हैं और वह सच बोल रहे हैं इसे साबित करने के लिए ‘लाई डिटेक्टर टेस्ट’ करा सकते हैं। उन्होंने दावा किया कि यदि जेटली के माल्या से मिलने के सबूत पीएल पुनिया हैं, तो मैं कुरान की कसम खा सकता हूं और यह साबित करने के लिए लाई डिटेक्टर टेस्ट करा सकता हूं कि सितंबर 2013 को इंपीरियल होटल में नीरव मोदी की कॉकटेल पार्टी और दुल्हन परिधान कार्यक्रम में राहुल गांधी भी मौजूद थे। उसी वक्त मामा-भांजा को गलत तरीके से कर्ज दिया गया था। पूनावाला ने आरोप लगाया कि इसके पीछे वजह है कि राहुल गांधी ने माल्या के साथ क्यों महागठबंधन बनाया और ऐसे भगोड़े के बयान पर भरोसा किया क्योंकि जब से नरेंद्र मोदी सरकार भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून लाया है, तब से भगोड़े और संभावित भगोड़े बेचैन हैं।

बाद में उन्होंने कहा कि राहुल और नीरव की मुलाकात एक विशेष मुलाकात के दौरान हुई थी। कांग्रेस अध्यक्ष होशो हवास में कॉकटेल और दुल्हन परिधान पार्टी में शरीक हुए थे तथा होटल में वक्त बिताया था। उन्होंने कहा, ‘‘यदि मैं गलत साबित हुआ तो राजनीति छोड़ दूंगा।’’ गौरतलब है कि 13,000 करोड़ रूपये से अधिक के पीएनबी घेटाले में नीरव मोदी आरोपी है। बता दें कि शहजाद पूनावाला राहुल गांधी के रिश्तेदार हैं। वो राहुल के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा के बहनोई तहसीन पूनावाला के भाई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here