विदाई भाषण पर बोलते बोलते भावुक हो गए बराक ओबामा, कहा मुस्लिमो से भेदभाव स्वीकार नही

0
107
बराक ओबामा

बराक ओबामा ने आखिरी बार अपने देश के लोगों को संबोधित केते हुए अपनी फेयरवेल स्पीच में कहा कि मिशेल और मुझे पिछले कुछ हफ्तों से शुभकामनाएं मिल रही हैं. आज मैं शुक्रिया कहना चाहता हूं. हर दिन मैंने आपसे सीखा. आप लोगों ने मुझे बेहतर राष्ट्रपति और इंसान बनाया.

ओबामा ने कहा कि मैंने सीखा है कि परिवर्तन तभी होता है जब आम आदमी की भागीदारी हो और मांग के लिए सभी एक साथ आते हों. लोकतंत्र के लिए एकजुटता की एक बुनियादी भावना की आवश्यकता होती है. हम गिरें या उठें हमें साथ होना चाहिए.

 इतना ही नही उन्होंने कहा कि आने वाले 10 दिन में देश एक बार फिर हमारे लोकतंत्र की ताकत देखेगा कि कैसे एक चुना हुआ राष्ट्रपति सत्ता संभालता है.

ओसामा बिन लादेन समेत हजारों आतंकियों को हमने मार गिराया है. अपनी स्पीच में ओबामा ने कहा कि मैं मुस्लिम अमेरिकियों के खिलाफ भेदभाव को अस्वीकार करता हूं. मुसलमान भी उतने देशभक्त हैं, जितने हम.

ये भी पढ़ें

PM के खिलाफ फतवा जारी करने वाले इमाम पर भड़के अभिजीत, लिखा-मैं डिबेट में होता तो वहीं थप्पड़ मारता

‘जली रोटी का सच उजागर करने वाले BSF के जवान को सम्मानित करने की माँग’

LEAVE A REPLY